September 30, 2023

मधुमक्खियां के हमले से मची भगदड़,एक महिला की मौत, 18 गंभीर रूप से घायल

मधुमक्खियां के हमले से मची भगदड़,एक महिला की मौत, 18 गंभीर रूप से घायल

 

मवाना। दिल दहला देने वाली एक घटना ने खजूरी गांव के लोगों को हिलाकर रख दिया। राजस्थान के बागड़ में गोगा म्हाड़ी जाने से पहले गांव के बाहरी छोर पर सम्राट मंडप के समीप पथवारी (अस्थाई म्हाड़ी) बनाकर पूजा अर्जना की गई। उसके बाद प्रसाद वितरण किया जा रहा था। तभी वहां पेड़ पर बने छत्ते से मधुमक्खियों ने हमला बोल दिया।

एक महिला की मौत हो गई, जबकि दो बच्चे समेत 18 लोग बदहवास हो गए, जिन्हें अस्पताल में उपचार दिलाया गया है। बुधवार को परीक्षितगढ़ थाने के खजूरी गांव निवासी डॉ. अरुण त्यागी का परिवार राजस्थान के बागड़ स्थित गोगा म्हाड़ी के लिए गया हैं। जाने से पहले सुबह दस बजे गांव के बाहरी छोर पर स्थित सम्राट मंडप के समीप पथवारी बनाकर गुरु गोरखनाथ की पूजा की गई। उसके बाद प्रसाद वितरण शुरू करा दिया गया।

ग्रामीण प्रसाद ग्रहण कर रहे थे। तभी अचानक मंडप के परिसर में खड़े पेड से मधुमक्खियों ने हमला बोल दिया, जिस कारण भगदड़ मच गई। मधुमक्खियों के हमले से बचने को लोग सड़कों पर लेट गए। कई महिलाओं को मधुमक्खियों ने घेर लिया। उनके कान से अंदर तक मधुमक्खी घुस गई थी। तभी आसपास के लोगों ने धुआं कर मधुमक्खियों को भगा दिया।

मधुमक्खियों के डंक मारने से 60 वर्षीय ललिता त्यागी पत्नी प्रकाश चंद व निर्मला निवासी सिखेड़ा बदहवास हो गई। शाम के चार बजे ललिता त्यागी ने स्नान कर लिया। उसके बाद उनकी हालत बिगड़ गई। उन्हें जिला मुख्यालय स्थित अस्पताल लेकर जा रहे थे। तभी रास्ते में दम तोड़ दिया।

दो साल के शिवांश, एक साल के कृष्ण, डॉ. अरूण कुमार, सुमन देवी, अनमोल, अनुभव, प्रशांत, विक्रांत, राखी, हैप्पी भी बदहवास हो गए। सभी को पहले गांव में डाक्टरों से दवाई दिलाई। उसके बाद कुछ की हालत गंभीर होने पर मेरठ जिला मुख्यालय स्थित लोकप्रिय अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। डॉ. अरुण त्यागी ने बताया कि इलाज के बाद सभी को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *