मेरठ में ही मिलेगा बच्चों के कैंसर का इलाज, मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल वैशाली ने शुरू की ओपीडी

0
Spread the love

मेरठः दिल्ली-एनसीआर के लीडिंग अस्पताल मैक्स इंस्टिट्यूट ऑफ कैंसर केयर वैशाली (गाजियाबाद) ने आज मेरठ के मैक्स मेड सेंटर में पीडिएट्रिक ऑन्कोलॉजी और हेमेटोलॉजी की ओपीडी सेवा शुरू की है.

 

मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल वैशाली में पीडिएट्रिक ऑन्कोलॉजी और हेमेटोलॉजी की सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर प्राची जैन इस ओपीडी में मरीजों को देखेंगी. हर महीने के पहले और तीसरे शुक्रवार सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक डॉक्टर प्राची इस ओपीडी में बैठा करेंगी. इस ओपीडी के शुरू होने से मेरठ व आसपास के लोगों को अपने घर के नजदीक ही एक्सपर्ट डॉक्टर से शुरुआती परामर्श मिल जाएगा और उन्हें ट्रैवल भी नहीं करना पड़ेगा.

 

ओपीडी लॉन्च के मौके पर डॉक्टर प्राची ने बताया कि जब किसी बच्चे को लगातार बुखार, बेवजह कहीं किसी गांठ का हो जाना या सूजन, तेजी से वजन घटना, शरीर के किसी हिस्से में लगातार दर्द रहना, बिना कारण खून बहना या चोट लगना, थकान, पीलापन, लगातार सिरदर्द या कहीं भी दर्द लंगड़ापन आना या चाल में बदलाव आ जाना, देखने में परेशानी होने जैसे लक्षण अनुभव होते हों तो एक्सपर्ट डॉक्टर को दिखाने की जरूरत है.

 

डॉक्टर प्राची ने कहा, “बच्चों को होने वाले सबसे आम कैंसर में ब्लड कैंसर, ब्रेन ट्यूमर, लिम्फ नोड कैंसर, एड्रेनल से होने वाले सॉलिड कैंसर, किडनी, लिवर और हड्डियों के कैंसर होते हैं. कुछ गाइडलाइंस का पालन करके दुनियाभर में चाइल्डहुड कैंसर के मामलों में सकारात्मक नतीजे देखने को मिले हैं.”

 

डॉक्टर प्राची ने आगे कहा, “अच्छी बात ये है कि कैंसर से पीड़ित बच्चों में सर्वाइवल का ग्राफ पहले की तुलना में सुधरा है और ये इलाज में आ रहे नए-नए बदलावों का नतीजा है हालांकि, सटीक रिजल्ट पाने के लिए जरूरी है कि बच्चों में कैंसर सही वक्त पर डायग्नोज हो जाए और एक्सपर्ट की टीम हॉलिस्टिक अप्रोच के साथ इलाज करे, बच्चों को कैंसर के प्रकोप से बचाने और इलाज के बाद सही रिजल्ट पाने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि पीडिएट्रिक ऑन्कोलॉजिस्ट को दिखाया जाए ताकि रोग का सही डायनोज हो सके और फिर बच्चे को असरदार इलाज मिल सके.”

 

ये ओपीडी लॉन्च दर्शाता है कि मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल वैशाली मरीजों को एडवांस टेक्नोलॉजी के साथ बेस्ट इलाज देने के लिए कितना प्रतिबद्ध है. अस्पताल के पास एक्सपर्ट डॉक्टरों की टीम है, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी है, जिसकी मदद से रोग का सही डायग्नोज होता है और फिर कैंसर का बेहतर इलाज किया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *