विद्यामंदिर क्लॉसेस का नेशनल एडमिशन टेस्ट 12 फरवरी, को क्लास 5 से लेकर 11वीं तक के बच्चों के लिए टेस्ट 

0
Spread the love

मेरठ: देश का लीडिंग इंस्टीट्यूट और जेईई व नीट एग्जाम की तैयारी का हब विद्यामंदिर क्लासेज (वीएमसी) अपना फ्लैगशिप टेस्ट कराने के लिए तैयार है. एडमिशन और स्कॉलरशिप के लिए वीएमसी का नेशनल एडमिशन टेस्ट (NAT) इसी महीने 12 फरवरी को कराया जाएगा. ये टेस्ट ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों मोड में होगा. इस टेस्ट का मकसद मेधावी छात्रों को स्कॉलरशिप देना और उन्हें बेहतर स्टडी के लिए तैयार करना है.

 

ये टेस्ट उन बच्चों के लिए बूस्टर होता है जो जेईई और नीट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं या करना चाहते हैं. ऐसे बच्चों को मेंटरशिप मिलती है, डाउट क्लीयर होते हैं, मोटिवेशनल सेशन होते हैं. वीएमसी के फाउंडर्स समेत टॉप फैकल्टी बच्चों के साथ इंटरैक्ट करती है, फ्री मॉक टेस्ट कराए जाते हैं, स्कूल और बोर्ड एग्जाम की प्रैक्टिस कराई जाती है.

 

अभी जो बच्चे क्लास 5, 6, 7, 8, 9, 10 और 11 में पढ़ रहे हैं उनके पास इस टेस्ट में शामिल होने का चांस है. ये टेस्ट बच्चों के लिए विद्यामंदिर क्लासेज में खुद को एनरॉल कराने का एक बेहतर रास्ता है. नेशनल एडमिशन टेस्ट बच्चों को न सिर्फ 100 परसेंट स्कॉलरशिप पाने का मौका देता है बल्कि फ्री प्रैक्टिस टेस्ट, मॉक बोर्ड टेस्ट का भी मौका देता है. बच्चों को उनकी मौजूदा क्लास के लिए ई-स्टडी मटेरियल मिलता है. गर्ल स्टूडेंट और स्कूल टीचर्स के बच्चों को ट्यूशन फीस में 10 परसेंट की एक्स्ट्रा छूट दी जाती है.

 

विद्यामंदिर क्लासेज के चीफ अकेडमिक ऑफिसर (सीएओ) सौरभ कुमार ने कहा, ‘’विद्यामंदिर क्लासेज का सबसे पहला मकसद बच्चों के अंदर साइंटिफिक और टेक्निकल नॉलेज का मजबूत फाउंडेशन तैयार करना है ताकि वो बेहतर इंजीनियर और डॉक्टर बन सकें. नेशनल एडमिशन टेस्ट का उद्देश्य शुरुआती स्टेज में ही बच्चों को इस लायक बनाना है कि वो आने वाली डिफिकल्टी को आसानी से क्रैक कर सकें. हमारे कोर्स में छात्रों को फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स, बायो के बेसिक कंसेप्ट क्लियर कराए जाते हैं और उनके अंदर एनालिटिकल स्किल्स व समानांतर थिंकिंग प्रोसेस डवलप किया जाता है और उन्हें मुश्किल से मुश्किल प्रॉब्लम्स को क्रिएटिविटी के साथ सॉल्व करने के लिए सक्षम बनाया जाता है.’’

 

क्लास 5,6,7 और 8 के छात्रों को नेशनल एडमिशन टेस्ट के अर्ली स्टार्ट एडवांटेज से लाभ होगा और मजबूत फंडामेंटल विकसित करने में मदद मिलेगी जो उन्हें IIT-JEE (मेन एंड एडवांस), NEET, NTSE, इंस्पायर -केवीपीवाई और ओलंपियाड समेत अन्य प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में बढ़त दिलाएगा. यहां छात्रों को स्कूल और प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए तैयार किया जाता है, टॉप स्टाफ बेहतर टीचिंग टेक्निक के साथ बच्चों को भविष्य संवारते हैं.

 

विद्यामंदिर क्लासेस के सीबीओ अभिषेक शर्मा ने कहा, ‘’वीएमसी की टीचिंग का सबसे बड़ा फॉर्मूला ये है कि यहां अलग-अलग स्टेज के हिसाब से बच्चों की जरूरत के अकॉर्डिंग टीचिंग मेथोडोलॉजी अपनाई जाती है. अलग-अलग राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय एग्जाम्स में हमारे यहां के बच्चों की कामयाबी के पीछे भी ये एक बड़ा कारण है. वीएमसी बहुत ही एक्सपीरियंस टीचर्स के साथ बच्चों की प्रिपरेशन कराता है. जेईई और नीट जैसे एग्जाम की तैयारी का कम से कम 10 साल एक्सपीरियंस रखने वाली फैकल्टी वीएमसी में बच्चों को पढ़ाती है.’’

 

जो छात्र आगे चलकर जेईई और नीट का एग्जाम पास कर देश के टॉप इंजीनियरिंग व मेडिकल कॉलेज में एडमिशन पाना चाहते हैं उनके लिए वीएमसी का ये नेशनल एडमिशन टेस्ट बेहद अहम है. वीएमसी के फाउंडर्स समेत टॉप फैकल्टी इन क्लासेज और सेमिनार में हिस्सा लेंगे.

 

टेस्ट व अन्य जानकारियों के लिए छात्र वीएमसी की वेबसाइट www.vidyamandir.com पर जाकर विजिट कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *