मेरठ वालों के लिए खुशखबरी, मैक्स अस्पताल पटपड़गंज ने शुरू की गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ओपीडी  

0
Spread the love

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारियों के बढ़ते खतरे के प्रति मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल पटपड़गंज लगातार लोगों को जागरूक करने का काम कर रहा है. साथ ही अस्पताल इससे जुड़ी बीमारियों को खत्म करने में भी अपना अहम योगदान दे रहा है. इस कड़ी में दिल्ली के पटपड़गंज स्थित मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल ने अब मेरठ में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की ओपीडी सेवा शुरू की है.

 

ये ओपीडी सेवा मेरठ के मैक्स मेड सेंटर पर महीने के पहले और तीसरे सोमवार को उपलब्ध रहेगी. दोपहर 2 बजे से शाम 4 बजे के बीच मरीज यहां स्पेशलिस्ट डॉक्टरों को दिखा सकेंगे. यहां डॉक्टर परामर्श देने के साथ-साथ गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारियों व गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर का इलाज भी बताएंगे.

 

मैक्स अस्पताल पटपड़गंज लगातार मरीजों के हित में नए-नए कदम उठाता है और मेरठ में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की ओपीडी लॉन्च करना भी उसी का एक हिस्सा है. यहां डॉक्टर से परामर्श के बाद मरीज बेस्ट इलाज पा सकेंगे और इसके लिए उन्हें अपने शहर से बाहर भी नहीं जाना पड़ेगा. इस ओपीडी से सिर्फ मेरठ ही नहीं, बल्कि आसपास के इलाके के मरीजों को भी लाभ मिलेगा, जिन्हें इलाज के लिए दिल्ली-नोएडा की दौड़ लगानी पड़ती थी.

 

मेरठ में ओपीडी लॉन्च करते वक्त एक्सपर्ट डॉक्टर्स ने ये भी बताया कि रोग का सही वक्त पर पता लग जाने और फिर उसके बेहतर ट्रीटमेंट से बीमारी होने व मृत्यु का खतरा कम हो जाता है.

मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल पटपड़गंज में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सर्जरी, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ऑन्कोलॉजी के डायरेक्टर डॉक्टर पीके मिश्रा ने मेरठ ओपीडी सर्विस की लॉन्चिंग पर कहा, ‘’देश में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से जुड़ी समस्याओं में अप्रत्याशित बढ़ोतरी देखी गई है जिसमें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर के केस भी हैं, जो पिछले कुछ वक्त में काफी बढ़े हैं. लेकिन अच्छी बात ये है कि दिन-ब दिन ट्रीटमेंट के नए व एडवांस मेथड्स भी आ रहे हैं. ऐसी ही एक तकनीक रोबोटिक सर्जरी की है, जिसके आने से सर्जरी बेहतर सटीक व आसान हो गई हैं और डॉक्टरों को इससे बहुत फायदा मिला है. कैंसर जैसे मर्ज के इलाज में रोबोट की मदद से मिनिमली इनवेसिव सर्जरी की जा रही हैं, जिसमें ब्लड लॉस कम होता है, रिकवरी जल्दी होती है, और मरीज को कम वक्त तक अस्पताल में रुकना पड़ता है.’’

 

ग्लोबाकैन इंडिया 2020 के डाटा के अनुसार, देश में कैंसर के कुल जितने केस हैं उनमें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर के 15 फीसदी केस हैं. हर साल इससे जुड़े केस में वृद्धि हो रही है.

 

डॉक्टर पीके मिश्रा ने कहा, ‘’इस तरह की ओपीडी सेवाएं शुरू करना का उद्देश्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर के केस में कमी लाना है. क्योंकि इस तरह की बीमारी से जुड़े शुरुआती लक्षणों को लोग पहचान नहीं पाते, उनके अंदर अवेयरनेस की कमी रहती है, जिसके चलते रोग की पहचान नहीं हो पाती और धीरे-धीरे समस्या बढ़ जाती है. लोगों की खराब लाइफस्टाइल भी इसमें कारक होती है. लोग अनहेल्दी खाना खाते हैं, जंक फूड लेते हैं, साथ ही शराब का सेवन करते हैं, नींद भी ठीक से नहीं पूरी करते. ये सभी कारण गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की शिकायत को बढ़ाते हैं. ऐसे में जरूरी है कि लक्षण और बीमारी की जल्दी पहचान की जाए ताकि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या न बढ़े. इस ओपीडी सेवा में एक्सर्पट डॉक्टर की मदद से ये कोशिश रहेगी कि मरीजों को सही परामर्श के साथ बेहतर इलाज भी मुहैया कराया जाए.’’

 

मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल पटपड़गंज पिछले कुछ सालों से लगातार अपनी फैसिलिटी में उन्नति कर रहा है और इंटरनेशनल स्टैंडर्ड का इलाज लोगों को मुहैया करा रहा है. देश के अलग-अलग हिस्सों में जाकर अस्पताल अपनी सेवाएं दे रहा है.

For More information, Contact CN Network Media Services

1. Bineet Rai – 84473 98349

2. Divyansh Chawla – 92667 23022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *