फर्जी तरीके से बीमार बताकर अपने अस्पताल में भर्ती दिखाकर बीमा कंपनी से पैसा हड़पने का मामला सामने आया है

0
Spread the love

मेरठ कोर्ट में रवि प्रकाश के नाम से दस्तावेज किए फर्जी दाखिल : रवि प्रकाश के आरोप:

अस्पताल संचालक पंकज त्यागी पहले भी जा चुका है जेल

अस्पताल संचालकों पर आधा दर्जन से भी ज्यादा गैर जनपदों में है मुकदमे दर्ज

मेरठ/ रवि पुत्र स्वर्गीय मोहन प्रकाश निवासी ग्राम औरंगाबाद जिला हापुर ने बताया कि 15 वर्षों से अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहता है तथा वर्तमान में पत्नी बच्चे दिल्ली में रहते हैं और व बच्चों से अलग रहकर गौशाला हरिद्वार में गौ शाला में काम करता है कभी-कभी गांव में जाता है प्रार्थी की वृद्ध माता जी गांव में ही रहती हैं प्रार्थी की माता जी के पास जिसने अपना नाम दीपशिखा नर्स व एक अन्य व्यक्ति नाम अज्ञात निवासी गढ़मुक्तेश्वर जिला हापुर बताएं अपने साथ में पुलिस लेकर घर आए और मेरे बारे में जानकारी करने लगे एक पर्चा मेरी माता जी को दिया और कहा कि रवि प्रकाश की मेरठ न्यायालय में गवाही होनी है रवि प्रकाश अपने गांव गया तो रवि की माताजी ने सारी बात बताई और बताया कि कई बार पुलिस आ चुकी है और दीपशिखा वह पुलिस द्वारा दिया गया पर्चा

जिसमें वाद संख्या वगैरा लिखा है रवि प्रकाश की गवाही होना बताया गया था उसके बाद प्रार्थी ने नयालय मेरठ में जाकर अधिवक्ता द्वारा जानकारी कराई तो न्यायालय में प्रार्थी के नाम पते का एक फर्जी आधार कार्ड बनाकर प्रार्थी के नाम की गवाही करा रखी है उसके उपरांत जब प्रार्थी ने परिवारों के बारे में जानकारी कराई तो प्रार्थी को पता चला कि अंजुल त्यागी पत्नी पंकज उसके परिवार के सदस्य पंकज त्यागी पुत्र जयपाल देव उत्कर्ष त्यागी पुत्र पंकज त्यागी आदिति त्यागी पुत्री पंकज त्यागी शुभम त्यागी पुत्र प्रदीप डॉक्टर तनुज गर्ग पुत्र अज्ञात में जावेद पुत्र जान मोहम्मद व श्रीमती नीरू पत्नी अज्ञात निवासीगण भाग्यश्री अस्पताल मंगल पांडे नगर थाना मेडिकल गढ़ रोड मेरठ आदित्य त्यागी पुत्र योगेश कुमार त्यागी निवासी शास्त्री नगर मेरठ अपराधी परवर्तीरी संचालक किस्म के व्यक्ति हैं तथा अन्य कई जिलों में विभिन्न तथा क्षेत्रों में मुकदमा पंजीकृत हैं लोगों को सड़यंत्र रच कर ठगने का काम करते हैं इनके विरुद्ध दीपशिखा पुत्री दया किशन निवासी गढ़मुक्तेश्वर हापुर द्वारा मुकदमा पंजीकृत माननीय न्यायालय गढ़मुक्तेश्वर हापुर में मुकदमा पंजीकृत है सिविल लाइन मेरठ पर कई मुकदमे पंजीकृत है उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा षड्यंत्र रच कर प्रार्थी के नाम का फर्जी आधार कार्ड नाम पता लिखकर फर्जी तरीके से माननीय न्यायालय एसी जी एम कोर्ट मेरठ में झूठी गवाही करा दी गई तथा अपने विपक्ष ने दीपशिखा पर दबाव बनाने हेतु उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा लाभ लेने के उद्देश्य से एक झूठा बाद दायर कराया गया है तथा प्रार्थी की पत्नी को फर्जी तरीके से बीमार बताकर अपने अस्पताल में भर्ती दिखाकर बीमा कंपनी से पैसा हड़पने की भी आशंका जबकि प्रार्थी उपरोक्त व्यक्तियों में से किसी भी व्यक्ति को जानता पहचानता तक नहीं है और मेरे द्वारा मेरठ न्यायालय में कोई गवाई नहीं दी गई है और अंजुल त्यागी मेरठ द्वारा बताई गई घटना के वर्ष 2019 में प्रार्थी मेरठ गया ही नहीं था तो घटना देखने का सवाल ही नहीं बनता रवि प्रकाश ने आपबीती वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह को बता कर नियाय की गुहार लगाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *